Friday, 8 August 2014

गायत्री महाविज्ञान अनुभूत प्रयोग - बुद्धि -वृद्धि एवं राजकीय सफलता !!

गायत्री महाविज्ञान अनुभूत प्रयोग - बुद्धि -वृद्धि एवं राजकीय सफलता :

बुद्धि -वृद्धि --
       गायत्री प्रधानत: बुद्धि को शुद्ध ,प्रखर और समुन्नत करने वाला मन्त्र है। मन्द बुद्धि ,स्मरण शक्ति की कमी वाले इससे विशेष रूप से लाभ उठा सकते है । जो बच्चे अनुत्तीर्ण  हो जाते है ,पाठ ठीक प्रकार याद नहीं कर पाते ,उनके लिये निम्न उपासना बहुत उपयोगी है। 
        सूर्योदय के समय की प्रथम किरणे पानी से भीगे हुए मस्तक पर लगने दे । पूर्व की ओर मुख करके अधखुले नेत्रों से सूर्य का दर्शन करते हुए आरम्भ में तीन बार ॐ का उच्चारण करते हुए गायत्री का जप करे । कम से कम एक माला (१ ० ८ मन्त्र )अवश्य जपना चाहिये । पीछे हाथों की हथेली का भाग सूर्य की ओर इस प्रकार करे ,मानो आग पर ताप रहे है । इस स्थिति में बारह मन्त्र जपकर हथेलियों को आपस में रगड़ना चाहिये और उन उष्ण हाथों को मुख ,नेत्र ,नासिका ,ग्रीवा ,कर्ण ,मस्तक आदि समस्त शिरोभागो पर फिराना चाहिये । 

राजकीय सफलता --
              किसी सरकारी कार्य ,मुकदमा ,राज्य स्वीकृति ,नियुक्ति आदि में सफलता प्राप्त करने के लिये गायत्री का उपयोग किया जा सकता है । जिस समय अधिकारी के सम्मुख उपस्थित होना हो अथवा कोई आवेदन पत्र लिखना हो ,उस समय यह देखना चाहिये कि कौन-सा स्वर चल रहा है। यदि दाहिना स्वर चल रहा है तो पीतवर्ण ज्योति का मस्तिष्क में ध्यान करना चाहिये और यदि बाया स्वर चल रहा हो तो हरे रंग के प्रकाश का ध्यान करना चाहिये । मन्त्र  में सप्त व्याह्र्तिया (ॐ भू: भुव: स्व: मह: जन: तप: सत्यम ) लगाते  हुए बारह मन्त्रो का मन ही मन जप करना चाहिये । दृष्टि उस हाथ के नाख़ून पर रखनी चाहिये ,जिसका स्वर चल रहा हो । भगवती की मानसिक आराधना ,प्राथना  करते हुए राजद्दार में प्रवेश करने से सफलता मिलती है । 



श्रेष्ठ, सुन्दर , स्वस्थ , बहुत ही बुध्दिमान, सर्वगुण सम्पन्न  व संस्कारवान संतान को जन्म देना चाहते है तो  इन youtube वीडिओ को जरूर देखें 
Garbh Sanskar Video in Hindi Language   

Garbh Sanskar Video in English Language 

वेबसाइट - http://www.divyagarbhsanskar.com/